आखिर क्यों प्रदेशभर के 5000 से ज्यादा रेजीडेंट चिकित्स्क है हड़ताल पर ?


फीस वृद्धि बिल को वापस लेने और सुरक्षा मुहैया करने को लेकर प्रदेश के करीब 5000 रेसिडेंट चिकित्स्क हड़ताल पर है। रेसिडेंट चिकित्स्क और सरकार के बिच दो बार हुई वार्ता भी सफल नहीं रही। हड़ताल के कारण मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

प्रदेश के उदयपुर, कोटा, जयपुर, अजमेर सहित कई जगह इमरजेंसी केस को ही पहले देख रहे है, वही कई मरीजो के ऑपरेशन की तारीखे आगे कर दी गई है।  रेजीडेंट चिकित्स्क अन्य राज्य की तरह आवासीय भत्ता, पीजी में की गई फीस वृद्धि का आर्डर वापस लेने और चिकित्सको की सुरक्षा को लेकर हड़ताल कर रहे है, और साथ ही रेसिडेंट चिकित्स्क मांग लिखित में पूरी करने पर अड़े है।
live-tv-namaste-gaon.png

recent posts

Recent Posts Widget

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिग ब्रेकिंग न्यूज़ । कानोड़ नगर के चेयरमैन का ताज कांग्रेस की चंदा देवी मीणा के सिर

प्रतापगढ़ । घर में घुसकर महिला पर गोलिया चलाकर की हत्या

बिग ब्रेकिंग न्यूज़। जनता सेना के 6 पार्षदों ने किया मतदान का बहिष्कार

सलूम्बर । महिला से अश्लील बातें करने वाले शिक्षक को निलंबित करने हेतु उपखण्ड अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

कानोड़ । चोरों ने 4 मकानों के ताले तोड़े, करीब 3 किलो चांदी 1 लाख 20 हजार रुपए नकदी चोरी होने की आशंका

आसपुर । मनपसंद सब्जी नहीं बनाई तो युवक ने जहर खाकर दी जान

कानोड़ में भाजपा से दुर्गा मीणा ने किया अध्यक्ष पद पर नामांकन

ब्रेकिंग न्यूज़। कानोड़ से 20 वार्डों के परिणाम आए रोचक भाजपा को 7, कांग्रेस को 7, जनता सेना को 6 सीटें मिली

रजीया बी की गोली मारकर की गई हत्या के मामले में इनामी अभियुक्त बबलु उर्फ जितेन्द्र जोशी गिरफ्तार

Breaking । सलूम्बर । सड़क दुर्घटना में हुई कार और बाइक की भिड़ंत