भीण्डर । पूर्व पालिकाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह व वल्लभनगर विधायक गजेन्द्र सिंह की माता कैलाश कुंवर का निधन


भीण्डर । स्वतंत्रता सैनानी व राजस्था सरकार के पूर्व गृहमंत्री स्व. गुलाबसिंह शक्तावत की पत्नी एवं वल्लभनगर विधानसभा के प्रत्येक कार्यकर्ता में बाईजी के नाम प्रख्यात श्रीमती कैलाश कुंवर का शुक्रवार रात्रि 10.30 बजे उदयपुर स्थित आवास में निधन हो गया। कैलाश कुंवर भीण्डर नगर पालिका के पूर्व पालिकाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह शक्तावत व वल्लभनगर विधायक गजेन्द्र सिंह शक्तावत की माता भी है। इनका अंतिम संस्कार पैतृक गांव भीण्डर में शनिवार को हुआ। 

अंतिम यात्रा भीण्डर स्थित शक्तावत फॉर्म हाउस से दोपहर डेढ़ बजे रवाना हुई जो रामपोल बस स्टेण्ड, बाहर का शहर, मोचीवाड़ा, रावलीपोल, सदर बाजार, सर्राफा बाजार, सुरजपोल चौराहे होते हुए मोक्षधाम पहुंची। जहां पर दोनों भाईयों व परिवार जनों द्वारा मुखाग्नि देकर अंतिम संस्कार किया। इस दौरान चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, भीण्डर राजघराने से महाराज रणधीर सिंह भीण्डर, महाराज कुंवर प्रणवीर सिंह भीण्डर, चित्तौडगढ़ सांसद सीपी जोशी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री गिरिजा व्यास, रघुवीर सिंह मीणा, मांगीलाल गरासिया, पुष्कर लाल डांगी, उद्योगपति भीमसिंह चुण्डावत, विवेक कटारा सहित सैकड़ों कांग्रेस नेता सहित हजारों लोग शामिल हुए।  


शक्तावत साहब थे मंत्री तो बाईजी सुनते थे फरियाद
स्वतंत्रता सैनानी व राजस्थान सरकार में गृहमंत्री से लेकर विभिन्न मंत्रालयों के मंत्री रहे स्व. गुलाब सिंह शक्तावत व्यस्त रहने से उनकी पत्नी कैलाश कुंवर भीण्डर स्थित आवास पर कार्यकर्ताओं व लोगों की फरियाद खुद सुनती थी और फिर गुलाबसिंह शक्तावत को बताकर कार्यकर्ताओं व लोगों के काम करवा देते थे। इस वजह से वल्लभनगर विधानसभा व भीण्डर क्षेत्र के लोगों में कैलाश कुंवर बाईजी के नाम से प्रख्यात थे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अनुसार भीण्डर या अन्य क्षेत्र के कार्यकर्ता जो शक्तावत साहब से डरते थे वह अपनी समस्या बाईजी के समक्ष ही रखते थे। बाईजी का कार्यकर्ताओं में स्नेह और विश्वास ऐसा बना रखा था कि उनको बताई हर समस्या हल होकर ही रहती थी। 


भीण्डर नगर पालिका में रही पार्षद
कैलाश कुंवर ने वर्ष 1995 में वार्ड एक से पार्षद चुनकर भीण्डर नगर पालिका में पहुंची थी। उस समय भाजपा का बोर्ड बना था, लेकिन कैलाश कुंवर ने विपक्ष की भूमिका निभाते हुए नगर के प्रमुख मुद्दों को उठाया था। उस समय नगर पालिका में काफी उठापटक भी हुए। इसके बाद कैलाश कुंवर राजनीति पद पर कभी काबिज नहीं हुई। लेकिन वल्लभनगर विधानसभा में राजनीति सिक्के पर एक तरफ शक्तावत साहब थे तो दूसरी तरफ कैलाश कुंवर ही हुआ करती थी।


मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री व विधानसभाध्यक्ष पहुंचे थे कुशलक्षेम जानने
पिछले काफी समय से बीमार चल रही कैलाश कुंवर कुछ माह से तबीयत ज्यादा नासाज रहने लगी थी। इस दौरान प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट एवं विधानसभा अध्यक्ष डॉ.सी.पी. जोशी आवास पर आकर कैलाश कुंवर की कुशलक्षेम जानी थी। इसके अलावा कांग्रेस मंत्री, वरिष्ठ नेताओं व कार्यकर्ताओं का मिलना भी लगातार जारी रहता था।


बीमार लेकिन मतदान से कभी नहीं की दूरी
कैलाश कुंवर पिछले 4-5 वर्ष से बीमार या चलने जैसे हालत नहीं होने के बावजुद भीण्डर में चुनावी समय मतदान के लिए नहीं चूकी। दोनों भाई अपनी माता को व्हीलचेयर से मतदान केन्द्र पर लेकर पहुंचे लेकिन मतदान जरूर करवाया। उनका अंतिम मतदान विधानसभा चुनाव 2018 में किया था। बीमार होने से पहले वह उदयपुर से समय-समय पर भीण्डर आकर कार्यकर्ताओं से मिलकर राजनीति चर्चा करती रहती थी।


इन नेताओं ने जताया कैलाश कुंवर पर दुख
कैलाश कुंवर के निधन पर दुख प्रकट करते हुए संवेदना व्यक्त की। जिसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी.जोशी, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, वल्लभनगर पूर्व विधायक रणधीर सिंह भीण्डर सहित अन्य नेताओं ने ट्वीट व वाट्सअप के माध्यम से संवेदना प्रकट की।



live-tv-namaste-gaon.png

recent posts

Recent Posts Widget

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रतापगढ़ । घर में घुसकर महिला पर गोलिया चलाकर की हत्या

सलूम्बर थाना क्षेत्र के खेराड़ में टेम्पो अनियंत्रित होकर पलटा, 40 जने थे सवार

ब्रेकिंग न्यूज़। कानोड़ से 20 वार्डों के परिणाम आए रोचक भाजपा को 7, कांग्रेस को 7, जनता सेना को 6 सीटें मिली

सलूम्बर । नगरपालिका का विस्तार, 10 नए राजस्व गांव शामिल

ब्रेकिंग न्यूज़ । लसाडिया । कानोड़ लसाडिया मार्ग पर मिनीबस व पिकअप की टक्कर

ब्रेकिंग न्यूज़ । सलूम्बर । 17 साल से फरार कैदी चढ़ा पुलिस के हत्थे, सलूम्बर थाना पुलिस को मिली बड़ी सफलता

Breaking । सलूम्बर । सड़क दुर्घटना में हुई कार और बाइक की भिड़ंत

सलूंबर पंचायत को नवाज़ा गया राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार से

प्रतापगढ़ । नाकाबंदी के दौरान 103 किलो अवैध डोडा चुरा परिवहन करते एक अभियुक्त गिरफ्तार