जीवनदायिनी 108 बन रही लापरवाही की मिसाल, खतरे में पड़ रही मरीजों की जान



सराड़ा। दुर्घटना और संकट के समय ग्रामीण क्षेत्रों में सहायता उपलब्ध करवाकर जीवनदायिन कहलाने वाली 108 एम्बुलेंस अब लापरवाही का उदाहरण बनती जा रही है। पहले गंभीर अवस्था के रोगियों को समय पर एम्बुलेंस सहायता मिल जाने से जान बच जाती थी लेकिन पिछले कुछ महिनों से सराडा क्षेत्र की स्वास्थ्य सेवाओं पर बड़े सवाल खडे हो रहे हैं। ऐसे में गरीब आम व्यक्ति को लाचार व्यवस्था के चलते जान जोखिम में डालनी पड़ रही है ।

सराड़ा, झाड़ोल व पलोदड़ा हॉस्पिटल की एम्बुलेंस को लेकर कई शिकायतें सामने आ चुकी हैं जिनमें कन्ट्रोल रुम पर कॉल करने के बाद इन दोनों पर पहले तो सम्पर्क नहीं हो पाता और हो भी जाता है तो कई बार केस लेकर जाने की बात कह कर टाल दिया जाता है। ऐसे में इन एम्बुलेंस के भरोसे आम लोगों की जिन्दगी दांव पर लगती जा रही है । 


ऐसा ही एक मामला सराड़ा थाना क्षेत्र के खांखल गांव से सामने आया है जहां बीती रात घर के बाहर सोये युवक प्रदीप पुत्र लक्ष्मण मीणा को अचानक जहरिले जानवर ने काट लिया। घबराये परिजन गंभीर हालत में उसे लेकर झाड़ोल हॉस्पिटल पहुँचें जहाँ चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद उदयपुर रेफर कर दिया। लेकिन जीवनदायिनी कहलाने वाली 108 न तो झाड़ोल, पलोदड़ा और न ही सराड़ा हॉस्पिटल की मिली। 108 पर सम्पर्क के दौरान पहुँचने की बात कही आधे घंटे तक नही पहुँचने के बाद दोबारा कॉल किया तो अटेण्डर ने 108 खराब होने की बात कही। रोगी की हालत बिगड़ती देख घबराये परिजन आनन-फानन में निजी वाहन से उदयपुर पहुँचें। गंभीर हालत में युवक को उदयपुर एमबी होस्पीटल में भर्ती करवाया जहाँ गंभीर हालत में युवक जिन्दगी की सांसों के साथ जंग लड़ रहा है । इस तरह से ग्रामीण क्षेत्र में दी जा रही सरकारी सुविधाएँ केवल छलावा साबित हो रहीं हैं, ऐसे में आम लोगों को उपचार कैसे मिल पायेगा?
 108 सेवा संचालक ने उसी समय "एम्बुलेंस खराब है, नहीं  मिल पायेगी" बताया होता तो हम निजी वाहन कर सही समय पर पहुँच जाते और मेरे बेटे को इलाज मिल जाता, बेटा अब जिंदगी और मौत में झुझ रहा है एमबी अस्पताल में।
                               ----  पीड़ित के परिजन
 रिपोर्ट - देवानंद दमामी 
live-tv-namaste-gaon.png

recent posts

Recent Posts Widget

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

2 साल बाद फिर से छलकी जयसमंद झील, रात करीब 12.32 मिनट पर छलका जयसमन्द झील का पानी

भीड़ के इस इन्साफ से मानवता पर सवाल , युवक के साथ दुराचार

सलुम्बर । ईडाणा माता मंदिर का दान पात्र खुला, निकले 19 लाख नकद, 3 किलो चांदी और 1 तोला सोना

जयसमन्द झील छलकने को आतुर

कानोड के केसरपुरा में युवती ने लगाई फांसी

उदयपुर-चित्तौडग़ढ़ सहित 6 ज़िलों में भारी बारिश की सम्भावना, प्रशासन अलर्ट पर

सलूंबर | बस्सी में भैंस चराते बुजुर्ग के कान की बालियां लूटी, पुलिस ने की नाकाबंदी

लूणदा में बैखौफ हुए चोर, बुजुर्ग को मारी ईंट

भीण्डर । पूर्व पालिकाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह व वल्लभनगर विधायक गजेन्द्र सिंह की माता कैलाश कुंवर का निधन

भिंडर के सालेड़ा में आकाशीय बिजली से हुए हादसे में मृतको के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से चार-चार लाख रुपये के चेक दिए